Pen Drive Kya Hota Hai - Pen Drive कैसे काम करता है?

क्या आप जानते हैं Pen Drive Kya Hota Hai? और Pen Drive कैसे काम करता है?। आप में ऐसे बहुत लोगे लोग होंगे जो की इस छोटे से Drive का इस्तेमल करते होंगे अपने  डाक्यूमेंट्स या कोई भी फाइल को एक जगह से दुषरे जगह को बहुत आसानी से ट्रांसफर करने के लि। हाँ दोस्तों आज हम छोटी सी डिवाइस के बारे में आज बात करेंगे जिसको हम Pen Drive या फिर Flash Drive कहते है। 

आज कल अब वो दिन नहीं रहा जब लोग पुराने Storage Device जैसे की Floppy  डिसकस का इस्तेमाल करते थे जो की उसमे data  store बहुत ही काम कर पति थी  और उश्के Read और Write Operation  बहुत ही Slow होता थ।  अज्ज कल के Technology के Advance हो गया है आज के टाइम पे Pen Drive आ चूका है।  दूसरे Storage Device के Compare में बहुत ही Fast है और उसकी Storage  Space भी बहुत ही ज्यादा होता  है। 

इसे इस्तेमाल करना भी बहुत आसान होता है , बस लोगो को इसे Computer के USB Port में लगाना (Insert ) करना पड़ता है।  ये सभी Operating  System होता है।  ये बहुत ही Portable होती है इसका मतलब ये है की इसको कही भी कभी भी आसानी से लिया जा सकता है। 

Pen  Drive के बारे में सारि जानकारी कही पे भी सही से Infofmation उपलब्ध नहीं है जीश्के चलते लोगो के मन में बहुत सारा Doubt रहता है  Pen Drive क्या होता है और कैसे काम करता है?।  तो में सोचा की इस पोस्ट के माध्यम से आप लोगो को पूरी जानकारी प्रदान करू।  तो देरी ना करते हुए चलिये जान लेते है Usb Pen  Drive  क्या है और कैसे काम करता है। 

Pen Drive Kya Hota Hai (What Is Pen Drive In Hindi

Pen Drive Kya Hota Hai पेन ड्राइव एक ऐसा Device है जिसको हम File को Transfer करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसे Jump Drives भी कहा जाता है।  यह एक Portable  Device है मतलब यह है की इसे आसानी से एक जगह से दुषरे जगह को Transfer किया जा सकता है।  


Pen Drive Kya Hai Aur Kaise Kam Karta Hai

देखा जाए तो आज के टाइम में बहुत सारे Cloud Storage ड्राइव आ चूका है अपने डाटा सेव करके रखने के लिए जैसे की Google Drive , Amazon Drive , Microsoft  One  Drive  और भी बहुत सारा है जिसमे अपने पेरशनल डाटा को अपलोड करके सेव करके रख सकते है या फिर किसीको वेज सकते हो। 

दोस्तों इन क्लाउड स्टोरेज में डाटा अपलोड या डाउनलोड करने के लिए इंटरनेट कनेक्शन का होना बहुत जरुरी है।  और पेन ड्राइव को इस्तेमाल करने के लिए कोई इंटरनेट कनेक्शन की जरुरत नहीं पड़ता है।  


Pen Drive कैसे काम करता है

अगर आपको थोड़ा बहुत कंप्यूटर के बारे में जानकारी हो तो आपको ASCII के बारे में सायद पता ही होगा।  अगर आप नहीं जानते है तो हम आपको बता देते है यह एक प्रकार का Coding (करैक्टर एन्कोडिंग) है, जो दो इलेक्ट्रॉनिक्स  डिवाइस के बिच डाटा को पढ़ने और समझने और स्टोरेज करने में मदता करता है।  

जब आप अपने पेन ड्राइव को कंप्यूटर में Plug करते हो और किसी फाइल को स्टोर करना चाहते हो उसे Copy करना पड़ता है और अपने पेन ड्राइव में सेव करने के लिए Paste के द्वारा पैन ड्राइव में डाटा सेव हो जाता है। इस से अगर आपके कंप्यूटर में कोई भी प्रॉब्लम हो जाता है तो आपके फाइल आपके पैन ड्राइव में सुरक्षित रहता है।    

Pen Drive को अबिष्कार किसने किया था

पेन ड्राइव का अबिष्कार पहले तीन इज़राइल नागरिक Amir Ben ,Due Moran और Oron Ogdon ने किये थे।  उसके बाद इज़राइल कंपनी M-System ने इसे पेटेंट करने के लाए 1999 में आबेदन किया था।  यह Pen Drive  एक तरह का Multi Chip Dizer था, इसके एडवांस Version मलेशियन नागरिक K.S Pua Khein Seng  ने ये वर्शन को अबिष्कार किया था   

Pen Drive कितने प्रकार के होते है?

पेन ड्राइव मार्किट में बहुत सारे तरह का मॉडल मार्किट में पाए जाते है आगे हम उनके बारे में में निचे बात करंगे।  आप इनमे से अपने हिसाब से जो जरुरत हो वो आप खरीद सकते है। 

OTG Pen Drive

Pen Drive Kya Hota Hai



OTG पेन ड्राइव को आप  सीधे अपने मोबाइल में इस्तेमाल कर सकते है।  ये डिवाइस ज्यादा तर स्मार्टफोन में इस्तेमाल करा जाता है External Device  के हिसाब से।  तो अगर आप मोबाइल के लिए ये बहुत बेहतर होगा इसको आप अपने मोबाइल या फिर कंप्यूटर में भी इस्तेमाल कर सकते है।

अगर कभी मेमोरी  फुल होआ जाता है  तो आप इसे कही पे भी कभी भी मोबाइल में लागर कर Storage खली कर सकते हो।  इसके वजह से इसे USB ON-The -Go कहा जाता है।  जो की OTG का Full Form होता है  

यह प्रकार का पेन ड्राइव को Dual Usb फ़्लैश Drive कहा जाता है जिसमे एक साइड Micro Usb  होता है (जो की स्मार्टफोन में इस्तेमाल के लिए) और दीसरे साइड usb 2.0 या फिर 3.0 कंप्यूटर में इस्तेमाल के लिए होता है   

USB 2.0

आज कल कंप्यूटर में ज्यादा तर USB 2.0 Port  दिया जाता है , इसी लिए ज्यादातर फ़्लैश ड्राइव 2.0 साइज़ वाले आते है।  इसका कारन ये है की इसको बनाने में कंपनी को बहुत काम पैसा खर्चा करना पड़ता है 

स्पीड की बात किया जाये तो इसका ट्रांसफर स्पीड 480Mbit/s मतलब (60MBPS )  की स्पीड तक दिया गया है लेकिन ट्रांसफर के टाइम इतना स्पीड नहीं मिलता है।  नार्मल ट्रांसफर फुल स्पीड इसका 15Mb/s  और Low  स्पीड में 1.2 Mb/s तक मिलता है 



USB 3.0

दोस्तों देखा जाये तो अब तक का सबसे Latest Flash Drive टाइप 3.0 को ही मन जाता है , जिसको मसीहा  2008 में अबिस्कर करा गया था।  इस से भी नया Latest Flash Drive टाइप 3.1 आते है लेकिन बहुत महंगा पड़ता है 
इसिलए बहुत सी कंपनी इसको इस्तेमाल नहीं करती है कारन अधिक ज्यादा price होने के कारन ग्राहक इसको नहीं खरीद पाते है और जिसके वजह से कमपनी को लोस्स होता है।  

Pen Drive Kya Hota Hai



कुछ कुछ ज्यादा मेहेंगा Computer Case में और Laptop में Usb 3.0 और 3.1 का पोर्ट दिया जाता है जिसके कारन Type -A Flash drive लगता है रेसप्टकटल नीला रंग में लगा होता है।  USb 3.1 का स्पीड बताया गया है की 5Gbp/s सुपर स्पीड है लेकिन बास्तबिक में इस्तेमाल में  500Mbp/s तक पाया गया है  


Pen Drive का अलग नाम 

पेन ड्राइव के अन्य कुछ नाम संखिप्त में :-
  • USB Drive
  • Jump Drive
  • Flash Drive
  • Thump Drive
  • USB Memory
Pen  Drive के कुछ पॉपुलर कंपनी 
पेन ड्राइव बनाने वाले कुछ पॉपुलर कंपनी का नाम :-

  • SanDisk
  • Sony
  • HP
  • Toshiba
  • Kingston Technology
  • I Ball

आज आपने क्या सीखे 
ये था की Pen Drive और कैसे काम करता है ? (Pen Drive Kya Hota Hai)  तो दोस्तों में असा करता हु की ये आर्टिकल आपको पसंद आया होगा अगर आया है तो निचे कमेंट करके जरूर बताये और आर्टिकल को शेयर भी करे जैसे की Facebook ,Twiter और भी Social मीडिया पर शेयर करे धन्यवाद। 

          

    

       


               

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ